azaad hind morcha

हमारे देश में अधिकतर लोग यह मानते हैं कि वे शासित होने के लिए ही पैदा हुए हैं. उनका मानना है कि बुरे लोगों की जगह कुछ अच्छे लोग शासन में आ जाएं तो सब ठीक हो जाएगा. साथ ही एक वर्ग ऐसा है, जो बुरा नहीं है लेकिन मानता है कि अगर बुरे लोगों की जगह मैं खुद सत्ता में आ जाउं तो सब ठीक कर दूंगा.इस भ्रम को दूर करना है कि इंसान शासित होने के लिए है और समाज की वर्त्तमान राष्ट्रीय-अन्तराष्ट्रीय समस्याओं का निराकरण अच्छे लोगों के शासन में आने से हो जायेगा!- – – – – – – – – – – – – – – – – – – – – भाइयो और बहनो ,
जब तक समस्त समाज के छात्र लोग अपनी जाति से उठकर अन्य राजनैतिक दलो की तरह एक मंच पर एकत्रित होकर अपनी ताकत का प्रदर्शन नहीँ करेंगे ,कुछ भी उचित नहीं होगा। सभी छात्रो लोगो को अपनी जाति की सक्रियता के साथ अराजनैतिक मुहिम के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जब तक एकजुट नहीँ होगे तब तक इन सरकारों व पार्टियों पर कोई दबाव पड़ने वाला नहीँ ! आज सभी छात्रो से हमारे आज़ाद हिन्द मोर्चा , अध्य्क्ष अदरणनीय भानु प्रताप सिंह हम सभी छात्रो युवा भाईयो के भविष्य के लिये हम सभी को आज़ाद हिन्द मोर्चा(छात्रसंघ) की मुहिम के माध्यम से सभी छात्रो की एकजुटता के लिये प्रयासरत है, एवं छात्र भाइयो के सभी अराजनैतिक संगठनो के संयोजक आपस में मिलकर एकता का प्रतीक दे और इन काली सरकारो का पर्दा ~फास करे ! आप सोच सकते है भाइयो की हम रातो को उठ कर दिन में बैठकर पढ़ते है । और जब नौकरी मिलती है । तब पैसा दो और साथ में सबसे जरुरी है । कछा 5 ,8 ,9पढे इन काले नेताओ का समर्थन मिले तब नौकरी मिलेंगी पर यह अमीरो के लिये मुमकिन है हम गरीबो के लिए नहीं आज हम चाहे जितना क्यू न पढ़ जाये परंतु यह कम पढ़े , अनपढ़ नेताओ की उंगलियो पे नाचेंगे कब तक यह चलेगा यह पता नहीं पर हम सब छात्र मिलकर प्रयास जरूर करेगे इसको कम करने के लिए
अत: आप सभी जागरूक साथियों से अनुरोध है आप सब आज़ाद हिन्द मोर्चा (युवासंघ)के साथ एकजुटता का परिचय दें !आदरणीय भानु प्रताप सिंह का मानना है , कि हम युवाओ को अपने आपको कभी परिस्थितियों का ग़ुलाम नही समझना चाहिए ।क्यू की हम युवा स्वयं अपने भाग्य के विधाता है!!!
जय हिन्द जय भारत
“लाल सलाम”